Virtual Private Network (VPN) क्या है और कैसे काम करता है

क्या आप ऑनलाइन प्राइवेसी को लेकर Tensed रहते है परेशान रहते है। क्या आपको भी ये लगता है की आपके पर्सनल जानकारिया Hackers के हात लग जायेगा। और क्या आप भी अपने E-mails, Online Shopping और Bill’s Payment को Secure रखना चाहते है?

अगर ऐसा चाहते है तो फिर अब ऐसा करना पॉसिबल है क्युकी अब Online Privacy को Secure करने के लिए VPN उपलब्ध है। लेकिन ये VPN क्या है और ये कैसे आपका हेल्प कर सकता है इसके लिए आपको हमारे इस पोस्ट को पूरा पढ़ना होगा ताकि आप भी इस VPN – Online Secure Network के बारे मे पूरा जान पाओ। तो अगर आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ते है तो आपको इस VPN के बारे मे पूरा जानकारी Detailed मे मिल जायेगा।  तो चलिए शुरू करते है और इस VPN के बारे मे Detailed मे जानते है। 

VPN क्या है (What is VPN)

VPN

Unsecured Wifi Network पर Web Surfing करना या फिर Transaction करने का मतलब है अपने Private Information और Browsing Habits को एक्सपोज़ कर देना। वैसे सोचने मे ही ये कितना Dangerous लगता है। लेकिन VPN यानि Virtual Private Network पब्लिक Networks यूज़ करते टाइम आपको Protected Network Connection प्रोवाइड कराता है। 

ये आपके Internet Traffic को Encrypt करता है और आपके Online Identity को Hide कर देता है। ऐसे मे Third Parties के लिए आपके Online Activities को Track करना और आपका डेटा चुराना मुश्किल हो जायेगा। VPN आपके PC, Smartphone को Server Computer पर Connect करता है और उस Computer के Internet Connection का यूज़ करके Internet पर Browse कर सकते है। VPN एकदम लीगल होते है। और इनका यूज़ पुरे दुनिया मे Individuals भी करते है। और Companies भी करते है। ताकि वो अपने Data को Hackers से सुरक्षा दे सके।

इस VPN का यूज़ ऐसे Countries मे भी किया जाता है जहा पर Highly Restricted Government होते है। VPN के बारे मे इतना जान लेने के बाद ये तो समझ मे आ ही गया होगा की Public Network पर अपनी खुदकी Online Security के लिए VPN का Use किया जा सकता है। लेकिन ये VPN काम कैसे करता है?

VPN काम कैसे करता है? 

जब आप एक Secure VPN Server पर Connected होंगे तब आपका Internet Traffic एक Encrypted टनल से गुजरता है। जिसे कोई नहीं देख सकता है। यानि ना तो Hackers, ना तो Government और ना ही आपका Internet Service Providers। यानि आपके Data को Read नहीं किया जा सकता। VPN कैसे काम करता है इसे समझने के लिए हमें 2 सिचुएशन देखेंगे। 

1) Without VPN

2) With VPN

1)Without VPN

सबसे पहला VPN के बिना और दूसरा VPN के साथ। जब हम बिना VPN के Website को Access करते है तो उस Internet Service Provider (ISP) के जरिये Site पर Connect कर पाते है। ISP हमें एक यूनिक IP Address देता है। लेकिन क्युकी ISP ही हमारे पुरे Traffic और Browsing Habit को Handle और Direct करता है, वो उन Websites का पता लगा सकता है जिनपर हम Visits करते है। तो ऐसे मे हमारे Privacy Secure कहा हुयी !!

2) With VPN

चलिए अब बात करते है With VPN के बारे मे। यानि की VPN के साथ। जब हम VPN के साथ Internet से Connect होते है तब हमारे Device मे जो VPN App होता है (उसे VPN Client भी कहा जाता है) वो VPN Server से Secure Connection Establish करता है। 

हमारा Traffic अभी भी ISP के Through ही पास होता है लेकिन ISP एस इस ट्राफिक की Final Destination नहीं देख पाता है। और जिन वेबसाइट पर हम विजिट करते हैं वो वेबसाइट भी हमारे ओरिजिनल IP Address नहीं देख पाता है। अच्छा पर ये VPN का ज़रूरत क्यों पड़ा? 

VPN का ज़रूरत क्यों पड़ा (Why was A VPN Needed)

VPN को सबसे पहले 1996 मे Microsoft ने Developed किया था। ताकि Remote Employees जो की ऐसे Employees है जो की Office मे बैठ कर काम नहीं करता है बल्कि बाहर रहकर कई से भी काम करता है। और वो Employees कंपनी के Internet Network पर Secure Access ले सके। लेकिन जब ऐसा करने से Company का Productivity डबल हो गयी तो बाकि Companies भी VPN को Adopted करने लगा। 

ओके, तो हमें इस VPN का Use कब कब करना चाहिए? ये प्रश्न भी आपके मन मे जगह होगा। तो चलिए ये जानते है। 

VPN का Use कब कब करना चाहिए?

Privacy अगर आपके लिए बोहोत Important है तो आपको हर बार Internet Connect करते टाइम VPN का Use करना ही चाहिए। लेकिन फिर भी कुछ Situations ऐसा होता है की उस टाइम आपको VPN का Use करना ही चाहिए ये बोहोती मेहतपूर्ण है। जैसे Streaming के दौरान, Travelling के दौरान, Public Wi-fi Use करते टाइम, Game खेलते टाइम और शॉपिंग के टाइम। 

VPN कैसे Work करता है और इसे कब Use मे लेना चाहिए ये जानकारी Interesting था है ना !! लेकिन अब आगे ये जानते है क्या VPN की Different Types भी होते है। तो दोस्तों इसका जबाब है ‘हा’,  VPN के 2 Basic Types होते है। Remote Access VPN और Site-to-Site VPN। 

Remote Access VPN:- इसके जरिये Users दूसरे Network पर एक Private Encryption Tunnel के जरिये Connect हो पाते है। इसके जरिये Company के Internet Server या Public Internet Server से कनेक्ट हुआ जा सकता है। 

Remote access vpn

Site-to-Site VPN:- इस VPN को Router-to-Router VPN भी कहा जाता है। इस टाइप का यूज़ ज्यादातर Corporate Environments मे किया जाता है। खासकर जब एक Enterprise के कई जगह पर Headquarters होते है।  ऐसे मे Site-to-Site VPN ऐसा Closed Internal Network क्रिएट कर देता है जहा पर सभी Locations एक साथ Connect हो सके। इसे Intranet कहा जाता है। 

Site to Site VPN

Benefits of VPN

VPN से होनेवाले Benefits को एकसाथ देखे तो इसके Use से आपके Browsing History, IP Address, Location, Streaming Location, Devices और Web Activity Hide हो जाता है। 

Disadvantages of VPN

लेकिन VPN के Benefits के साथ कुछ Disadvantages भी होते है। जैसे की 

i. Slow Speed

ii. No Cookies Protection और

iii. Not Total Privacy

इतना Secure होने की बावजूत VPN को Complete Privacy Provider नहीं कहा जा सकता क्युकी ये Hacker, Government और ISP से तो डेटा को हाईड कर सकता है लेकिन खुद VPN Provider चाहे तो वो आपके डिटेल्स देख सकता है। तो ऐसे मे एक Trust Worthy VPN Provider से ही Service लेना बेहतर होता है। 

Basic Features of A VPN Provider

एक सही VPN Provider का पता आपको इन Points के जरिये लग जायेगा। 

1. VPN Sufficient Speed Offer करें

2. आपके Privacy Secure रहे

3. Provider Latest Protocol का Use करें

4. उसके Reputation अच्छा हो

5. उसके डेटा Limits आपके Internet Requirements से Match करता हो

6. Server के Location आपको पता हो 

7. आप Multiple Devices पर VPN एक्सेस ले सकते हो

8. VPN का Cost सूटेबल हो

9. Highest Encryption Available हो

10. Best Customer Support Provide किया जाये

11. Free Trial Available हो और

12. Ads Block करने की Facilities हो

कौनसे Devices मे VPN यूज़ कर सकते है?

तो अब ये जान लेने के बाद VPN को किसीभी Device से Connect किया जा सकता है या नहीं आइये जानते है। 

हा ऐसे सभी Devices जो की Internet से Connect हो सकते है उनमे VPN का Use हो सकता है। और ज्यादातर वीपीएन प्रोवाइडर मल्टीपल प्लेटफार्म पर यह Service दिया करते हैं। 

जैसे Laptop, Mobile, Smart TV, Tablets, Computer, Smart Appliances, Firesticks और Voice Assistants। बहुत से Top VPN Providers अपने वीपीएन का फ्री वर्शन भी प्रोवाइड कर आता है लेकिन उन Free Versions का Limitations होता है। जैसे की Data लिमिट। 

जब भी कोई VPN Providers अपने Paid Versions का Free Trial Provide कराता है। ऐसे मे VPN लेते समय बजट देखा जाना ती जाहिर सी बात है। लेकिन इतना जरूर ध्यान रखना चाहिए कि वो VPN आपको Basic Features तो जरूर से प्रोवाइड कराता हो। जो है Privacy। 

Some Best VPN Providers

Express VPN, TunnelBear और Strong VPN कुछ ऐसे Sites है जहा से आप अपने Windows, PC, Mac, Android, iPhone, iPad के लिए VPN Client डाउनलोड किया जा सकता है। सिर्फ यही नहीं आप यहा पर Free Trials भी ले सकते है। 

आपको अंदाज़े के लिए बता दे की Express VPN का Monthly Plan $12.95 का होता है और अगर आप Annually लेते है तो फिर Annual Plan $8.32/m का होता है। और दोस्ती इसीके साथ VPN Related सभी Important बातें Complete हो गये है। और हम आपको एक और बात बताना बेहतर समझते है की ये VPN जैसे Services हमें Online Privacy और Security देने के लिए है। तो हम इसके Use अपने फायदे के लिए कर सकते है। लेकिन किसी भी तरह के Illegal या Unethical Work मे इसका फायदा लेना हमें नुकसान भी पोहचा सकता है। इस लिए सही Direction पर ही चलते रहना। क्युकी मंजिल अभी बोहोत दूर है।

FAQs

Q1: What is The Full Form of VPN?

A: Virtual Private Network

Q2: How Many Types of VPN? 

A: There are Two Basic Types of VPN. Remote Access VPN and Site-to-Site VPN. 

Q3: Is VPN Legal? 

A: Yes. VPN is Absolutely Legal for Ethical Works.

Q4: Which are The Top 3 VPN Providers?

A: Express VPN, Tunnelbear and Strong VPN etc.

Q5: Who Invented This VPN?

A: Microsoft Company in 1996. 

Q6: क्या VPN TV पर Connect किया जा सकता है? 

A: हा ज़रूर जा सकता है। सिर्फ आपको TV Smart TV होना चाहिए।

Q7: क्या VPN से Game खेल सकते है? 

A: हा ज़रूर खेल सकते है।

हम ये आशा करते है की VPN क्या है और कैसे काम करता है ये जानकारी आपको अच्छा लगा होगा। अगर अच्छा लगे तो ज़रूर से इसको Share भी कर देना। ताकि सबको इस VPN के बारे मे पता लगे और वो इस VPN पर Importance दे सके।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

close button