HomeNews UpdatesScrap Policy Kya Hai - अब सड़कों से हटेंगे 20 साल की...

Scrap Policy Kya Hai – अब सड़कों से हटेंगे 20 साल की पुराने गाड़िया

Scrap Policy से अब सड़कों से हटेंगे 20 साल की पुराने गाड़िया

Scrap Vehicles

आप सब जानते ही हैं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने 2021-2022 की Budget की घोषणा कर दी है। इसमें नया Scrap Policy को Introduce किया गया है।

What is Scrap Policy – Scrap Policy Kya Hai

Scrap Policy को Introduce करने का मतलब सीधे-सीधे यह है कि 20 साल से पुराने गाड़ियां अब सड़कों पर नहीं चल सकेंगी। और यह सीधा Scrap Dealer के पास जाएंगे। 

Scrap Vehicles

इससे पहली बार यह भी कहा जा रहा है 50 हजार नई नौकरियां Generate होंगी। दूसरी बात यह भी माना जा रहा है कि प्रदूषण में भी कमी आएगी। वैसे परिवहन मंत्रालय इससे बहुत ज्यादा खुश है। Automobile Sector में भी खुशी की लहर है।

सिर्फ यही नहीं इसके साथ-साथ दो चीज है और भी Introduce की गई है जिसमें यह कहा गया है जो निजिबाण है वह 20 साल की पुरानी गाड़ी और 15 साल के अधिक अगर कोई Commercial वाहन है तो वह भी नहीं चल सकेगी

तो इसका सीधा सीधा मतलब यह हुआ की Automobile Sector मे जान फुकने की भी कौसिस की गयी है। क्योंकि अगर गाड़ियां इस तरीके से हटाया जाएगा सड़कों के ऊपर से इस Scrap Policy के तहत तो फिर ऐसे में लोग नए गाड़ियों को खरीदने के लिए आगे आएंगे। और यही एक वजह है कि Automobile Sector इससे कम से कम खुश नजर आ रहा है।

केंद्रीय परिबाहण मंत्री ने क्या राय दिया

वित्त मंत्री की इस घोषणा के बाद केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने भी पत्रकारों से बात की। उन्होंने कहा कि देखिए इस Policy काफी ज्यादा फायदा होने वाला है।

क्योंकि इस Policy से 1 करोड़ का निवेश होगा यह है पहली बात और दूसरा बात 50,000 से ज्यादा नई नौकरियां इसमें Generate होंगी।

इसके साथ ही साथ उन्होंने कहा कि Scrap Policy की वजह से Automobile Sector का Economy का आकर 4.5 लाख से करोड़ से बढ़कर अब 6 लाख करोड़ तक हो जाएगा।

निर्मला सीतारमण की इस Policy Introduce के बाद नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने साथ ही साथ इस को समझाया भी कि किस तरीके से Scrap Policy की हिंदुस्तान को जरूरत थी।

क्योंकि करोड़ों से ज्यादा ऐसे वाहन है जो बहुत ज्यादा Pollution फैला रहा है। और उस वाहन के रहने से Pollution 10 से 12 गुना ज्यादा है इसीलिए उस तरह की वाहन को सड़क से हटाना बहुत ही जरूरत थी नहीं तो इसका असर पर्यावरण पर भी हो जाता। 

ऐसा भी बोला गया है कि अगर यह गाड़ियां हटा दिया गया तो फिर पर्यावरण से 25 से 30 गुना Pollution कम हो जाएगा।

और इसका एक और फायदा खुद केंद्रीय मंत्री ने समझाया है। उन्होंने बताया है कि इसी Budget से हमें विदेशों के मुकाबले सस्ती दरों पर हमें Steam भी मिलेगा Rubber भी मिलेगा और Aluminum भी मिलेगा।

Scrap Vehicles

यानी अभी तक जो ऐसी चीजें विदेशों से मंगाए जाते थे उसके मुकाबले हमारे देश में जो Automobile Parts मिलेगा उसमें एक Rate का अंतर हो जाएगा।

उन्होंने इस को समझाया है कि Scrap Policy हिंदुस्तान के लिए किस तरीके से और किस Angle से जरूरत है और फायदेमंद रहेंगे। साथ ही साथ उन्होंने कहा कि प्रदूषण से भी इससे राहत मिलेगी। 

आप इसको भी पढ़कर देखे :- TRAI क्या है और TRAI का पूरा नाम क्या है 

2021 की बजट को अच्छे से समझिये! जानिए आसान भाषा मे

इससे मिलते हम आपको एक चीज और बता दे Bombay की IIT के एक अध्ययन में यह पता चला है कि सबसे ज्यादा वायु प्रदूषण अगर किसी से होता है तो उसमें 70% वाहनों के लिए ही होता है। और इसके अलावा भी जो,  पुराने वाहन(Vehicles) होते हैं वह सबसे ज्यादा प्रदूषण करते है। 

इसीलिए पुराने वाहनों को कबाड़खाने में ही देना सबसे सही होगा। और इसीलिए Scrap Policy मुकरते नजर आये है। 

सड़क परिबाहण मंत्री नितिन गडकरी ने साथ ही साथ ये भी बताये है की जब पुराने गाड़ियों को Discard किया जाएगा। यानी आप उनको Scrap Policy के तहत Scrap Dealers के पास भेजा जाएगा। तो वहीं से हमें कच्चा माल भी मिलेगा और उसी से नई गाड़ियां बनाने में मदद भी मिलेगी।

और इसीके साथ नए गाड़ियों के निर्माण मे भी 30 प्रतिशत तक की लागत मे कमी की बात वो बता रहा है। और साथ ही साथ ये भी उन्होंने कहा की Steel पर उत्पादित शुल्क भी कम किया गया है। इससे ये लग रहा है की आने बाले समय मे वाहनों के कीमत थोड़ा बोहोत काम हो जायेगा। 

तो Budget मे बोहोत सारे अहम बातें है लेकिन Scrap Policy को लेकर वित्त मैत्री के एलान के बाद सड़क परिबाहण मंत्री नितिन गडकरी भी काफी ज़्यादा खुश नजर आ रहा है। वो बता रहा है की किस तरीके से ना सिर्फ Pollution काम होगा बल्कि साथ ही साथ नई गाड़ियों के आने से नए नौकरियां भी Generate होंगी। 

और हिंदुस्तान मे जब ये Scrab Policy की Introduce की गयी है तो उससे कच्चे माल मे भी काफ़ी कमी आएगी। यानि की सस्ता कच्चा माल हम लोगो को उपलब्ध होगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read