10 Dangerous Weapons of History [Banned] – हिंदी मे जानिए

10 Dangerous Weapons of History [Banned] – हिंदी मे जानिए

दोस्तों अगर आप भी जानना चाहते हैं इतिहास के 10 सबसे खतरनाक हथियार के बारे में, तो इस आर्टिकल को जरूर एक बार Read करना।

10 Dangerous Weapons of History

 

दोस्तों इतिहास की सबसे बड़े युद्ध की अगर बात की जाए तो ऐसे में World War I और World War II का नाम सबसे पहले आता है। क्योंकि यह दोनों ही युद्ध इतने बड़े थे कि इन में मरने वालो की संख्या 10 करोड़ को भी पार की गई थी। 

 

दोस्तों आप सब को मेरे इस Blog में फिर से स्वागत है। तो मे इस बार आप लोगों को यह बताने वाला हूं कि World War I और World War II मे कुछ ऐसे ऐसे खतरनाक हथियारों को यूज़ किया गया था जिन्हे इतिहास में पहले कभी भी देखा नहीं गया था। 

 

इनमें कुछ हथियार इतने ज्यादा Deadly थे कि उनके इस्तेमाल पर हमेशा के लिए पाबंदी लगा दी गई है। दोस्तों आज कि मेरे इस आर्टिकल में, मैं आपको बताने वाला हूं World War और दुनिया के कुछ दूसरे बड़े युद्धों में इस्तेमाल हुए ऐसे ही 10 हथियारों के बारे में। तो दोस्तों चलिए हमारे आज का Article को शुरू किया जाए। 

 

1) Dirty Bombs 

 

दोस्तों हमारे आज के List में सबसे ऊपर है Dirty Bombs।  दोस्तो Dirty Bombs एक ऐसी Device है जिसका मुख्य मकसद एक Targeted Area के Atmosphere में Radioactive Particles को फैलाना होता है। इस खतरनाक हथियार के द्वारा सिर्फ इंसान ही नहीं बल्कि जमीन समुद्र और हवा को भी बहुत लंबे समय के लिए जहरीला बनाया जा सकता है। 

 

एक Normal परमाणु बम को Programming करके आसानी से एक Dirty Bomb में Convert किया जा सकता है। International Community परमाणु बम के ऊपर रोक लगाने में असफल रही है। लेकिन इनके द्वारा बहुत पहले ही Dirty Bombs के ऊपर रोक लगा दी गई है। 

 

2) Poison Bullets 

 

हमारे आज के List में नंबर 2 पर है Poison Bullets। दोस्तों दुनिया में जब बंदूकों की शुरुआत हुई थी तब इस बंदूकों की गोलियां उतने ज्यादा सटीक और Powerful नहीं होती थी। इसीलिए युद्ध के दौरान सैनिक अपने बंदूक की गोलियों पर एक विशेष प्रकार का जहर लगा देते थे। ताकि अगर गोली किसी सिपाही को छूकर भी निकल जाए,  तो भी वह सिपाही इससे बच ना पाए। 

 

गोलियों पर लगाया हुआ जहर इतना Slow होता था कि कई बार तो युद्ध पूरी तरह से खत्म हो जाने के बाद वह ज़हर सिपाहियों पर अपना असर दिखाना शुरू कर देता था। यानी War खत्म होने के बाद भी सिपाही यह जहर का असर महसूस करते थे।

 

इसीलिए अंतरराष्ट्रीय कानून के द्वारा जहरीले Bullets के इस्तेमाल पर हमेशा के लिए रोक लगा दी गई है। वैसे आज की समय की अगर बात करें तो इस समय बंदूक की गोलियां इतने ज्यादा Powerful बन चुके हैं की उन्हें किसी जहर की जरूरत ही नहीं है। 

 

3) Flame Throwers

 

दोस्तों हमारे आज के List के नंबर 4 पर है Flame Throwers। दोस्तों यह Flame Throwers एक ऐसा हथियार है जो जलते हुए इदं को बाहर निकालता है। यह हथियार आमतौर पर एक बड़े आकार की बंदूक के जैसे नजर आते हैं। 

Flame Throwers

 

दुनिया में Flame Throwers का इस्तेमाल सबसे पहले World War II और Vietnam War में किया गया था। यह हथियार मुख्य रूप से किसी भी बंकर और Underground Tunnel मैं छुपे हुए सिपाहीयों को निकालने में इस्तेमाल किया जाता था। 

 

Underground Tunnel में इसका इस्तेमाल किया जाने पर Tunnel में Oxygen खत्म हो जाता था। जिसके कारण टनल में छिपे सिपाही वही तड़प कर मर जाते थे या फिर बाहर निकल आते थे।

 

आज की समय की अगर बात की जाए इस तरह की हत्या के ऊपर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई है। 


4) Biological Weapons 

 

दोस्तों हमारे आज के लिस्ट के नंबर पांच पर है बायो Biological Weapons।  दोस्तों दुनिया में जब से इंसानों ने एक दूसरे के खिलाफ युद्ध लड़ना शुरू कर दिया है।  तब से यहां Biological Weapons का इस्तेमाल भी होता चला आ रहा है। 

Biological Weapons

 

हालांकि अभी कुछ साल पहले, इसके इस्तेमाल पर हमेशा की तरह पाबंदी लगा दी गई थी। वैसे जो लोग नहीं जानते उनको बता दे की, जब किसी Virus, Bacteria, बीमारी, महामारी को हथियार के रूप में इस्तेमाल किया जाता है तो उसको ही एक Biological Weapons कहा जाता है। 

 

Modern Convention के अनुसार Biological Weapons का इस्तेमाल सिर्फ इंसान पर ही नहीं बल्कि जानवरों और पेड़-पौधों के ऊपर करने पर भी पाबन्दी लगा दी गयी है। 

 

इसको भी देखिये:-  5 Food Items जो हमारे मस्तिष्क की शक्ति को बढ़ाते हैं

 

5) Nerve Gas

 

दोस्तों हमारे आज के List में नंबर 6 पर है Nerve Gas। दोस्तों साल 2017 में Syria के अंदर सरकार के समर्थक द्वारा एक Nerve Gas Attack किया गया था। दोस्तों जिसमें 100 लोगों की जान चली गई थी। सिर्फ यही नहीं इसके साथ सेकड़ो लोगों की हालत भी खराब हो गई थी।

 

इस मामले की जब जांच की गई तो पाया गया कि इस हमले में Sarin नाम की एक Gas का इस्तेमाल किया गया था। ये गैस एक बेहद खतरनाक Nerve Agent होता है। जो इंसान की शरीर के अंदर जाने के बाद उसकी Nervous System को नस्ट कर देता है। इस बेहद खतरनाक Gas का ना तो कोई रंग होता है ना तो कोई गंध। 

 

यह गैस अपने शिकार की फेफड़े को Paralyse करके उसकी जान ले लेती है। Syria में हुए इस हमले के बाद एक अंतर्राष्ट्रीय संघ करके इस खतरनाक गैस के इस्तेमाल पर हमेशा की लिए पाबंदी लगा दी गई है।

 

इस संध के अनुसार किसी भी हाल में दुनिया का कोई भी देश अब इस गैस का इस्तेमाल हथियार के रूप में नहीं कर सकता। 


6) Plastic Landmines 

 

दोस्तों हमारे हाथ के List में नंबर 7 पर है Plastic Landmines। दोस्तों Mines का इस्तेमाल युद्ध में सदियों से किया जा रहा है।  और समय के साथ साथ इसके काम करने की Mechanism भी Advanced होता जा रहा है। वैसे ये बात तो आप सभी जानते ही होंगे की Mines Metal से बनी हुयी होती है। 

 

लेकिन आपको ये जानकर काफ़ी हैरानी होंगी की एक समय इतिहास मे Plastic से बनी Metal का इस्तेमाल भी किया जा चुका है। दोस्तों इस Plastic की Landmines को Metal Detector से बचाने के लिए किया जाता था। क्योंकि Metals से बनी Mines को Metal Detector की मदद से ढूंढ लिया जाता था। लेकिन Plastic की Mines, Metal Detector की पकड़ में नहीं आती थी। 

 

हाला की एक अंतराष्ट्रीय संध करके उसी समय इन Plastic Mines के ऊपर पावंदी की लगा दिया गया था।

7) Chlorine Gas

 

दोस्तों हमारे आज के List में नंबर 7 पर है Chlorine Gas। दोस्तों Chlorine Gas का इस्तेमाल भी दुनिया में पहली बार World War I के दौरान ही किया गया था। 

 यह 22 अप्रैल सन 1915 का दिन था जब Germany ने Belgium के Ypres में पहली बार Chlorine Gas का इस्तेमाल French सिपाहियों पर किया था। 

10 Dangerous Weapons of History

 

इस हमले को करने के लिए Germany ने पहले हवा का रुख बदलने का इंतजार किया, और जैसे ही हवा French सिपाहियोंके दिशा में चली तभी जरमानिओं ने Chlorine Gas को उनके ऊपर छोड़ दिया। यह हमला पूरी तरह से कामयाब रहा था। और इसमें 100 से ज्यादा सिपाहियों की जान चली गई थी। हालांकि इस Gas का इस्तेमाल करके जेर्मनीयों ने सन 1899 में बनी एक संध को तोड़ दिया था। 

 

लेकिन बाद में जेर्मनीयों ने यह कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया कि उन्होंने Gas का इस्तेमाल Canister में भरकर किया था। जब की संध मे इस Gas का इस्तेमाल किसी Firing जैसे चीज़ो के जरिये करने मना किया है।

 

8) Mustered Gas

 

दोस्तों हमारे आज के List के नंबर 8 पर है Mustered Gas। दोस्तों Mustered Gas पहले World War में इस्तेमाल किए गए सबसे खतरनाक हथियार था। यूं तो इसका आविष्कार सन 1822 में ही हो गया था, लेकिन World War I पर ही इसको बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया गया था। उस समय सिपाहियों के अंदर इस Gas का एक अलग ही खौफ हुआ करता था। 

10 Dangerous Weapons of History

 

क्योंकि यह Mustered Gas अगर सांस के साथ इंसानों के शरीर के अंदर चला जाता था, तो उस इंसान का मारना लगभग तय हो जाता था। इससे बचने के लिए सिपाहियों ने Gasmasks पहनना शुरू कर दिया था। लेकिन Mustered Gas की खासियत यह थी कि यह Gas सिर्फ सांस लेने से ही नहीं, बल्कि बदन को छूने पर भी इसका खासियत दिखता था।

 

यह शरीर की जिस भी हिस्से को छू जाती थी वहां मोटे मोटे छालों पड़ जाते थे। जिसके बाद इन छालों में इतना खतरनाक Affection होता था कि इससे सिपाहियों की मौत तक हो जाती थी। 

 

इसको भी देखिये:- दुनिया के 10 सबसे ज्यादा भुगतान करने वाले नौकरियां सुनकर हो जायेंगे हैरान!

 

9) Phosgene Gas

 

दोस्तों हमारे हाथ के List में नंबर 9 पर है Phosgene Gas। दोस्तों Phosgene Gas Chlorine और Carbon Monoxide की Reaction से बनी एक रंगहीन  जहरीला Gas होता है। जिसका इस्तेमाल World War I में Poison Gas के रूप में किया गया था। 

10 Dangerous Weapons of History

 

असल में Phosgene Gas का खासियत यह था की सिपाहियों को यह अहसास तक नहीं हो पाता था, कि वह किस जहरीले गैस के चंगुल मे आगये है। Phosgene Gas एकदम से किसीका जान नहीं लेता था बल्कि इसका असर 24 घंटे के बाद शुरू होता था। इस केस में शिकार हुए व्यक्ति के फेफड़े में Fluid Gas भर जाता था जिसमें दम घुट कर उस व्यक्ति का मौत हो जाता था। 

 

दोस्तों इस Phosgene Gas का भी इस्तेमाल World War I मे Germany के द्वारा ही किया गया था। लेकिन बाद में यह दूसरे राष्ट्रीय का मुख्य हथियार बन गया। दोस्तों इस जहरीली Gas ने लगभग 15 लाख लोगों का जान ले लिया था। 

 

10) Napalm

 

हमारे आज के लिस्ट मे सबसे लास्ट में है Napalm। दोस्तों Napalm नाम का यह हथियार 1942 मे Harvard University के अंदर बनाया गया था, लेकिन दुनिया मे ये पहलीबार Vietnam War के दौरान ही सुर्खियों मे आया था। वैसे तो इसको एक आग लगाने वाले Equipment के तौर Developed किया गया था, लेकिन इस युद्ध मे इसका इस्तेमाल एक हथियार के रूप मे किया गया था। 

 

यहा एक चिपचिपा पदार्थ होता है जो Skin पर चिपक कर उसको बुरी तरह से जाला देता है। इसके इसी खतरनाक रूप को देखते हुए इस पर पाबंदी भी लगाई गई है। हालांकि इन्हें Military में इस्तेमाल करने से Banned नहीं किया गया है। लेकिन आम नागरिकों के आबादी वाले इलाकों में इसका इस्तेमाल आज भी गैरकानूनी माना जाता है। 

 

तो दोस्तों मैंने इस Article में आपके साथ Share किया है इतिहास के युद्ध में इस्तेमाल किए गए खतरनाक हथियार को लेकर। इतिहास के युद्ध में ऐसी ऐसी चीजों का इस्तेमाल किया गया था कि आप सोच भी नहीं सकते उन सब के इस्तेमाल करने पर करोड़ो के तादाद मे लोगो का मौत हुआ है। 

 

तो दोस्तों जरुर मुझे बताना कि आज का Article आपको कैसा लगा। और अगर आपके पास भी कोई ऐसी जानकारी है तो फिर जरूर नीचे Comment में बताना और हमें हमेशा Support करते रहना तो चलते हैं आज के लिए इतना ही।

Bijoy Biswashttps://www.hindiadda.xyz
My name is Bijay. I am a Part Time Blogger And Also Honours in Political. Creator of HindiAdda.xyz. I Love to Share Values Throughout This Blog.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular